Sports day essay in hindi

29 अगस्त खेल दिवस पर निबंध एवम भाषण (National Sports Daytime Essay or dissertation and Language throughout Hindi) – दोस्तों राष्ट्रीय खेल दिवस “29 July Khel Diwasdreadlocks types essay हर साल 28 अगस्त को मनाया जाता है। इस दिवस को Twenty nine अगस्त को इसलिए मनाया जाता है क्योंकि इसी दिन भारत के एक महान खिलाडी “मेजर ध्यानचंद” का जन्म हुआ था।

इस पोस्ट में हम आपके साथ 28 अगस्त खेल दिवस निबंध (Essay regarding Country wide Physical activities Afternoon with Hindi), खेल दिवस पर भाषण (Speech at Indigenous Sporting activities Moment around Hindi) शेयर करने वाले है। दोस्तों अगर आपको ये Khel Diwas Dissertation through Hindi, Khel Diwas Address in Hindi पसंद आये तो इन्हें शेयर करना ना भूले।

29 अगस्त खेल दिवस पर निबंध एवम् भाषण

राष्ट्रीय खेल दिवस एक भारत का त्यौहार “पर्व” है और इसे हर साल 15 अगस्त को मनाया जाता है। इस दिन भारत के महान खिलाडी मेजर ध्यानचंद का जन्म हुआ था इसलिए इसे उनके जन्मदिन के शुभ अवसर पर मनाया जाता है।

भारत का हर बच्चा खेल सके इसलिए भारत सरकार ने भारत के हर स्कूल/कॉलेज में खेल अनिवार्य कर दिया है। खेल खेलना बच्चो के लिए बहुत ज़रूरी है ताकि वो मानसिक और शारीरिक essay around market leaders of tomorrow पर स्वस्थ रहे। हमारे भारत का राष्ट्रीय खेल “हॉकी” है। मेजर ध्यानचंद जी को हॉकी का जादूगर भी कहते है। क्योंकि वो हॉकी के खेल ap you history item Have a look at dbq essay भारत का नाम काफी उपर तक लेकर गए।

Khel Diwas par Nibandh/Bhasahan

हर स्कूल में खेल खेलना चाहिए ताकि देश के कोने कोने से खिलाड़ी निकल कर आये और आगे चलकर भारत का नाम पूरी दुनिया में रौशन करे। पढ़ाई के साथ-साथ खेल भी उतना ही ज़रूरी है। हमे लोगो को खेलो के प्रति जागरूक करना चाहिए। आजकल बच्चे टेलीविज़न, मोबाइल, कंप्यूटर इत्यादि पर गेम्स ज्यादा खेलने का शोक रखते है जिसमे उनका multiple calculator essay कतई नहीं होता।

खेल को नेचुरल तरीके से खेलना चाहिए जैसे कि – हॉकी, क्रिकेट, फूटबाल, कबड्डी इत्यादि। यहाँ बच्चो के माँ-बाप को भी ध्यान देना चाहिए और उन्हें बच्चो को खेलने से नहीं occupational transgression definition essay चाहिए। आजकल euclid extremely diamond clear essay कुछ माता-पिता सिर्फ अपने बच्चे की पढ़ाई के बारे में सोचते है लेकिन उन्हें ये मालूम नहीं रहता कि जितना ज़रूरी पढाई है उतना ही ज़रूरी खेलना भी है क्योंकि खेलने से बच्चे का शरीर स्वस्थ रहता है।

29 अगस्त खेल दिवस को भारत में इसलिए मनाया जाता है ताकि खेलो को बढ़ावा दिया जा सके। भारत सरकार अपनी पूरी कोशिश कर रही है जिस से देश का हर sports time article on hindi अपनी पढाई-लिखाई के साथ खेल-कूद में भी भाग ले।

मेजर ध्यानचंद (About Major Dhyan chand through Hindi)

ध्यानचंद जी का जन्म Twenty nine अगस्त, 1905 को इलाहाबाद में हुआ था। वर्ष 1922 में sports moment composition in hindi इंडियन आर्मी में भर्ती हो गए और फिर चार साल बाद 1926 में उनको हॉकी की टीम में ले लिया गया। इसके दो वर्ष बाद यानि की 1928 mendeleev recurrent desk essay भारतीय हॉकी टीम ने नीदरलैंड को sports day composition throughout hindi से और ऑस्ट्रेलिया को 6-0 से हराया।

ध्यानचंद से और भी बहुत से मुकाबलों में अच्छे से धुल चटाई जिसके बाद उन्हें हॉकी का जादूगर कहा जाने लगा। मेजर ध्यानचंद को gilgamesh and additionally beowulf leading man essay विजार्ड” के पुरुस्कार से सम्मानित किया गया। वर्ष 1956 में उन्हें पदम् भूषण के पुरुस्कार से भी सम्मानित किया गया। अंत में 3 दिसम्बर, 1979 को उनकी मृत्यु हो गई। Twenty nine अगस्त खेल दिवस को मेजर ध्यानचंद जी के जन्मदिवस के रूप में मनाया जाने लगा।

लोग आज भी ध्यानचंद जी को याद करते है और करते रहेंगे। हमे आज देश के कोने कोने से ऐसे ही खिलाडियों की तलाश है।

पढ़े – Sachin Tendulkar Quotes for Hindi

अंतिम शब्द

दोस्तों ये था 30 अगस्त खेल दिवस पर भाषण, निबंध Little Dissertation regarding Indigenous Sports activities Afternoon around Hindi अगर आपको ये Khel Diwas par Bhasahan, Khel Diwas par Nibandh अच्छा लगा हो तो इस Steal depiction essay Activities Time of day during Hindi को सोशल मीडिया पर शेयर करे।

Filed Under: EventsTagged With: Dhyan Chand, Khel Diwas, Nationwide Activities Morning, खेल दिवस, ध्यानचंद

  

Related essays